शिक्षण संस्थान स्वच्छता रैंकिंग 2018 में प्रिंस को देश में दूसरा स्थान…

मानव संसाधन विकास मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा देश के सबसे स्वच्छ विश्वविद्यालय, कॉलेज और तकनीकी संस्थान की रैंकिंग 2018 जारी की गई है। उक्त रैंकिंग को देशभर के 6029 शिक्षण संस्थानों में अपनाये जा रहे स्वच्छता के मापदण्डों के अध्ययन के आधार पर जारी किया गया है। मंत्रालय द्वारा जारी उक्त रैंकिंग में प्रिंस एकेडमी को देशभर में दूसरा स्थान एवं प्रिंस महाविद्यालय को देशभर में तीसरा स्थान मिला है। निदेशक जोगेन्द्र सुण्डा ने कहा कि स्वच्छता रैंकिंग के लिए मानव संसाधन विकास मंत्रालय, केन्द्र सरकार की विभिन्न टीमों ने देशभर के शिक्षण संस्थानों में एक-एक दिन रुक कर संस्थाओं द्वारा स्वच्छता हेतु अपनाये जा रहे तौर-तरीकों का विश्लेषण किया था। इसी के तहत् प्रिंस में यूजीसी व जेएनयू विश्वविद्यालय की तीन सदस्यीय टीम ने यहाँ के स्वच्छता मापदण्डों यथा साफ-सफाई, कचरा संग्रहण, कचरा निस्तारण, कचरा पात्रों के उपयोग, जल निकास व्यवस्था, सोलर सिस्टम सहित अनेक बिन्दुओं का गहनता से निरीक्षण किया एवं इसके बाद रिपोर्ट मंत्रालय में प्रस्तुत की थी। संस्था चेयरमैन डा. पीयूष सुण्डा के अनुसार शिक्षण संस्थाओं में शिक्षा की गुणवत्ता के साथ स्वच्छता का भी समानान्तर महत्त्व है। प्रिंस प्रबंधन द्वारा दोनों ही क्षेत्रों में उत्कृष्टता का प्रयास अनवरत जारी है इसी की परिणिति है कि राष्ट्रस्तरीय यह गौरव प्रिंस एजुहब को मिला है। राष्ट्रीय स्तर पर उत्कृष्ट रैंक हासिल करने पर प्रिंस एजुहब में दिनभर उत्साह का माहौल रहा। विभिन्न प्रबुद्धजनों ने संस्था प्रबंधन को बधाई दी। मिठाईयाँ बाँटकर खुशियाँ मनाई गई।